Page01_edited.jpg

यह ब्लॉग भारतीय इतिहास और विरासत की घटनाओं को दर्शाता है। हमें उन्हें नहीं भूलना चाहिए। ये घटनाएँ हमें सदैव सीखने के अवसर प्रदान करती हैं। 

This Blog showcases incidents from Indian History and heritage. Let us not forget them. They offer us lessons to learn.

सदस्यता के लिए कृपया "संपर्क / Contact" पृष्ठ पर जाएं 

To subscribe, please visit "संपर्क / Contact" page

अगला लेख:

हिन्दुओं के १६ संस्कार - भाग (४/९)

इन्द्रिय-परायणता, स्वार्थ, निरुद्देश्यता, असंयम, भविष्य के लिए विचार नही करना जैसे दोषों को पशुवृत्ति कहते हैं। इनका जिनमें बाहुल्य हैं, वे 'मानव पशु' हैं। अपना नवजात शिशु 'मानव पशु' नहीं रहना चाहिए, उसके चिर संचित कुसंस्कारों को दूर किया ही जाना चाहिए।  ………..

 

जन्म से पहले शिशु माँ के गर्भ में एक सुरक्षित वातावरण में होता है। उसने माँ के शारीरिक तापमान के अतिरिक्त किसी अन्य तापमान का अनुभव नही किया होता। उस पर बाहर की हवा, वायु के दबाव का सीधा प्रभाव नहीं पड़ा होता। जन्म के पश्चात शिशु बाह्य वातावरण में होता है और उस पर तापमान, हवा एवं वायुदाब का सीधा प्रभाव पड़ता है। बाह्य वातावरण में भिन्न जीवाणु, रोगाणु आदि भी उस पर आक्रमण करने लगते है। शिशु की प्रतिरोधक क्षमताओं का अभी विकास होना होता है।   …………

 

 

Next Article:

16 Sanskārs of Hindus - Part (4/9)

Bad qualities like senselessness, selfishness, aimlessness, incontinence, nontolerance, no thinking ability about the future are called animal instincts. One, who has them in excess is a 'human animal'. Our newborn child should not be a 'human animal', his long-standing bad instincts must be removed.  ………….

Before birth, the baby is in a safe environment in mother's womb. Apart from the body temperature of the mother, the baby has not experienced any other temperature. The outside air, air pressure till birth did not have any direct effect on the baby. After birth, the baby is in an external environment and is directly affected by temperature, wind and air pressure. Different bacterias, germs etc. existing in the external environment also attack the baby now. The immune system of the baby has yet to develop.

..........

Blog culture education geeta hinduism hindu religion illetracy generosity hum naa bhooleen na bhulen bhuleen health soceity pollution india indian history heritage islam population poverty caste-system food water air technology christian 

© 2020-2023: All Rights Reserved / सर्वाधिकार सुरक्षित

हम न भूलें भूले अन्न पानी हवा इस्लाम उदारता जनसंख्या गरीबी जातिवाद निरक्षरता स्वास्थ्य प्रदुषण प्रौद्योगिकी ब्लॉग भारत भारतीय इतिहास विरासत शिक्षा श्रीमद भगवत गीता धर्म संस्कृति समाज सनातन ईसाई